Ek Deewaani - Chapter 2

Monday - 1 January, 2018
movies
69 views
SHARE THIS POST ON

घर पोहोच कर मैं थका हारा बिस्तर पर सोने के लिए लेट गया ! आज मुझे जैक दिखाई नहीं दे रहा था शायद वो कही घूमने गया होगा ! कोई बात नहीं उसे आजादी का पूरा हक है ! जहाँ चाहे घूम सकता है मेरी तरह कुछ दिनों में मरने वाला थोड़ी है वो ! चलो छोडो जाने दो उसको घूमने दो उसको आ जायेगा कल ! फ़िलहाल तो मुझे नेहा के बारे में सोचना है बस उसके ही बारे में सोचना है वो मुझे क्यों मिली मैं उसकी तरफ कैसे आकर्षित हो गया !

मैं सोने के लिए बिस्तर पर लेटा तो था ! लेकिन शायद आज रात मुझे नींद नहीं आने वाली थी क्योकि उस लड़की का चेहरा मेरी आँखों के सामने घूम रहा था ! मैं चाहा कर भी उसके बारे में सोचना बंद नहीं कर पा रहा था !

करवटें बदल-बदल कर कब सुबह हुई पता ही नहीं चला ! और मैं सुबह फिर से त्यार- श्यार होकर उसी जगह पर पोहोच गया जहाँ मेने उस लड़की को देखा था ! और वहीँ सड़क किनारे फुटपाथ पर बैठ कर उसका इन्तजार करने लगा ! मुझे नहीं पता था की वो आएगी या नहीं लेकिन मैं फिर भी उसका इन्तजार कर रहा था ! और करीब सुबह 10 बजे वो वहां आयी एक ब्लैक कलर के सूट-सलवार में !

मैं क्या वर्णन करू उसकी खूबसूरती का किन शब्दों में बताऊ की कितनी सुंदर लग रही थी वो ! किसी स्लोमोशन फिल्म के इफ़ेक्ट की तरह वो मुझे अपनी तरफ आते हुए दिख रही थी !

slowly-slowly-slowly-slowly-slowly-slowly बस थोड़ी ही देर में वो मेरे पास आ गयी और चुपचाप मेरे बगल में बैठ गयी हम दोनों ने एकदूसरे को बस एक नजर देखा ! और फिर अचानक नजरे चुराकर हम दोनों इधर-उधर देखने लगे !

हम दोनों एक दूसरे के बगल में चुपचाप बैठे हुए थे ना वो कुछ बोल रही थी और ना ही मैं ! सच कहु तो मेरी आज हिम्मत ही नहीं हो रही थी कुछ बोलने की ! उसे ऐसे पास बैठे देख मेरी जुबान ही नहीं खुल रही थी! किसी डरे हुए बच्चे की तरह मैं वही बगल में बैठा हुआ था ! और वो भी चुपचाप मेरे बगल में बैठी हुई थी! आज वो अपनी dairy नहीं लायी थी! जिसमे वो कल कुछ draw कर रही थी ! आज वो बस इधर-उधर आते जाते लोगो को देख रही थी और कभी-कभी एक नजर मुझे देख लेती थी !

हम दोनों वहां शाम के 6 बजे तक बैठे रहे यानि की पुरे 8 घंटे तक इस बिच ना उसने कुछ कहा और ना ही मेने कुछ....! और फिर इतनी देर तक साथ बैठने के बाद वो खड़ी हुई और वहा से जाने लगी ! मैं भी खड़ा होकर उसे जाते हुए देखने लगा शायद मैं कुछ बोलना चाहता था पर बोल नहीं पा रहा था ! लेकिन कुछ दूर जाने के बाद वो रुकी और मुड़कर उसने अपनी मीठी आवाज में मुझसे कहा " मेरा नाम नेहा हे..!" और चली गयी..!

“ आज मेरे बैकग्राउंड मैं बोहोत सारे संगीत एक साथ बज उठे..!!!!”

उसकी आवाज उसका नाम मेरे दिमाग से उतरता हुआ सीधे मेरे दिल मैं समां गया !

नेहा…………!!!!!!!!!!!! बस नाम सुनते ही मैं ख़ुशी से उछल पड़ा चिल्लाने लगा डांस करने लगा मेरी ख़ुशी का ठिकाना नहीं था मैं ऊपर देख ईश्वर का धन्यवाद करने लगा उसने मुझे नेहा से मिलवाया और आज उसने मुझसे बात भी करि अपना नाम मुझे बताया मैं बोहोत खुश था !

लेकिन... लेकिन…. कुछ ही मिनटों में मेरी ख़ुशी मायुशि में बदल गयी ! क्योकि मैं भूल गया था की मुझे कैंसर है और मेरा ऊपर का टिकट कभी भी कट सकता है ! तो इतना खुश होना मुझे बिलकुल शोभा नहीं देता ! प्यार मेरी किसमत में नहीं हे ! में किसी से प्यार नहीं कर सकता !

इन सब बातों को अपने दिमाग में लिए सर झुकाय किसी हारे हुए खिलाडी की तरह मैं अपने घर पोहोच गया !

घर पोहोच कर जब मैं अपने घर का दरवाजा खोलने लगा तो वो नहीं खुला क्यूकि कम्ब्खत मैं अपनी घर की चाबी कही रस्ते मैं खो आया था ! इसलिए मैं पीछे खिड़की से अंदर गया ! मैं आज पूरा खोया हुआ था ! बिलकुल भी होश मैं नही था ! मेरा दिल कर रहा था की मैं रोउ ! आखिर मुझे ये बीमारी क्यों हुई !

आज रात मैं सोच रहा था की कल नेहा से मिलु या नहीं ! क्या ये ठीक रहेगा की “वो आदमी प्यार करे जो कल परसो या फिर एक हफ्ते बाद मरने वाला है!” नहीं-नहीं ये ठीक नहीं है ! बिलकुल ठीक नहीं है !

लेकिन थोड़ा सा सोच विचार करने के बाद मेने निर्णय लिया की में बस नेहा से दोस्ती करूंगा ! उससे रोज मिलूंगा,बातें करूंगा उसे हसाऊँगा उसकी मन की बातों को जानूंगा और एक बोहोत अच्छा दोस्त बनूंगा बस !

और अगली सुबह मेने अपने घूमने का प्लान कैंसिल कर दिया और अपने जीवन का एक ही मकसद बना लिया और वो था “नेहा” !

अब मैं रोज सुबह मस्त त्यार-श्यार होकर नेहा से मिलने जाने लगा ! और वो भी मुझसे रोज मिलने आने लगी ! हम रोज 8 घंटे साथ बैठते थे जिसमे हमारे बिच सिर्फ आधे घंटे ही बात होती थी ! नेहा ज्यादा नहीं बोलती थी मैं ही उससे ज्यादा बातें करता था ! वो बस मेरी गिनी-चुनी बातो का ही जवाब देती थी ! उसका चेहरा हमेशा गुमसुम रहता था चेहरे पर कोई मुस्कान नहीं हमेशा खोई हुई ! मैं समझ नहीं पा रहा था की वो ऐसी क्यू है ! वो क्यू खुल कर बातें नहीं करती क्यू उसके चेहरे पर कोई मुस्कान नहीं अति ! ऐसी क्या बात है जो वो अपने दिल में दबाये बैठी हैं !

मुझे इन सब बातों का जवाब चाहिए था इसलिए मेने एक दिन नेहा से इन सब बातों के बारे में पूछा

मेने नेहा से कहा “ नेहा एक बात पुछु..! “

और नेहा ने मुझसे अपनी प्यारी सी आवाज में कहा " हाँ पूछो..."

और फिर मेने कहा " नेहा तुम ऐसी क्यू हो खोयी-खोयी कम बोलना चेहरे पर कोई मुस्कान नहीं ऐसी क्या बात है जो तुम अपने दिल मैं दबाये बैठी हो……?"

लेकिन नेहा ने मेरी बात का कोई जवाब नहीं दिया..!

और इसलिए मेने थोड़ा सख्ती से गुस्से में उससे कहा " नेहा मेरी बात का जवाब दो...!! "

मेरे इतना कहते ही वो गुस्से से उठी और वहां से चली गयी..!

और मैं किसी पुतले की तरह उसे जाते हुए देखता रेह गया..!!

उसके जाने के बाद मैं खुद को कोसने लगा “…जरुरी था ये सब पूछना क्या हासिल हुआ ये सब पूछ कर ! नाराज हो गयी ना वो अब ! पागल गधा,बेवकूफ…”

मुझे लग रहा था की वो अब मुझसे मिलने नहीं आएगी और यही हुआ ! अगले दिन वो मुझसे मिलने नहीं आयी..! लेकिन मेने सोचा चलो कोई बात नहीं आज नहीं आयी अगले दिन वो जरूर आएगी लेकिन वो अगले दिन भी नहीं आयी..! और अब मैं थोड़ा दुखी होने लगा क्युकी मेरा मन नहीं लगा रहा था ! नेहा को देखे बिना !

नेहा से मिले बिना मुझे 4 दिन हो चुके थे ! और अब मैं तड़पने लगा था मेरा मन्न उदास होने लगा था ! मुझे कुछ भी अच्छा नहीं लग रहा था ! इसलिए मेने सोचा की अब मैं नेहा को ढूंढूंगा ! लेकिन कैसे ? मैं सोचने लगा.......... और तभी मेरे दिमाग मैं आया ! नेहा की कार उसकी कार की नंबर प्लेट ! अरे हाँ मैं नेहा के घर का address उसकी कार की नंबर प्लेट के जरिये ढूंढ सकता हु ! और मेने यही किया ! मेने थोड़ी इंटरनेट पर searching करि और नेहा का घर ढूंढ निकाला !

नेहा का घर शहर से दूर एक सुनसान सी जगह पर था ये कुछ जंगल जैसी जगह थी जहा ऊँचे-ऊँचे पेड़ और बोहोत हरयाली थी और इसी हरयाली के बीच एक आलीशान बंग्ला था जो बोहोत बड़ा था मेरे घर से तो बोहोत-बोहोत ज्यादा बड़ा ! रात के अँधेरे में भी वो घर पूरी तरह जगमगा रहा था चारो तरफ रौशनी ही रौशनी और घर में जाने वाले दरवाजे पर 2 Security Guard भी मौजूद थे ! जिसे देख कर मेने अंदाजा लगा लिया की नेहा किसी आमिर बाप की औलाद है !

लेकिन मुझे इस अमीरी-गरीबी से कोई लेना देना नहीं था मुझे तो बस नेहा से मिलना था... ! लेकिन मिलु तो कैसे मिलु ? घर के मेन दरवाजे पर तो Security Guard है ! वो मुझे अंदर नहीं जाने देंगे ! इसलिए मेने सोचा चलो चोरो की तरह अंदर घुसता हु ! और फिर चुपचाप दबे पाऊँ मैं घर की Boundary को लांघता हुआ घर के आंगन में पोहोच गया ! और घर के अंदर जाने का दरवाजा ढूंढने लगा ये घर इतना बड़ा था की कुछ समझ ही नहीं आ रहा था की कहा से अंदर जाऊ दरवाजे पूरी तरह Security Lock थे ! विंडोज को सील कर रखा था ! मुझे समझ नहीं आ रहा था ये घर था या फिर America का वाइट हाउस ! कोई अंदर जाने का रस्ता ही नजर नहीं आ रहा है !

मैं बस पागलो की तरह इधर-उधर छुपता हुआ घूम रहा था ! समझ में नहीं आ रहा था साला अंदर घुन्सू तो घुन्सू कहा से ! और तभी किसी ने मुझे आवाज लगाई “संजू...…!!”.. मैं अपने ही नाम को सुनकर एकदम से डर गया और इधर उधर देखने लगा !

और फिर मुझे दुबारा आवाज आयी “यहाँ ऊपर देखो बुद्धू….” मेने जब ऊपर देखा तो एक छोटी सी खिड़की से नेहा मुझे झांककर देख रही थी उसे देख कर दिल को सुकून और मन्न में ख़ुशी की लहर दौड़ गयी …

उसने वही खिड़की से झांकते हुए मुझसे पूछा की “इतनी रात को ठंड में यहाँ क्या कर रहे हो … ” और मेने जवाब दिया “वो.... बस ऐसे ही जंगल में शिकार करने निकला था पता ही नहीं चला कब यहाँ पोहोच गया …”

बस इतना सुनते ही नेहा जोर से हंस पड़ी ! उफ़फफ ये हंशी जिसपे जान कुरबान इस प्यारी सी हंशी के लिए कुछ भी कर जाऊ ! आज मेने नेहा को पहली बार हस्ते हुए देखा था !

थोड़ा सा हंसी को रोकते हुए नेहा ने मुझसे कहा “चलो ऊपर आ जाओ ” मेने कहा “मगर कैसे आउ.... ” मेरे इस सवाल के पूरा होने से पहले ही वो अंदर चली गयी ! और मैं वही खड़ा मन ही मन में सोचने लगा की साला रात से यहाँ भटक रहा हूँ ! अंदर जाने का रास्ता ही नहीं मिल रहा है ! अब मिला तो जमीन से 20 Feet ऊपर गिरा तो सारी हड्डियाँ बाहर अब कैसे घुसूँ अंदर …!!!! चलो अंदर तो मुझे जाना ही है ऐसी मुलाकात का मौका कैसे छोड़ सकता हूँ ! बस फिर क्या मेने एक था टाइगर के सलमान भाई को याद किया और दीवार से सटे पाइप को पकड़ता हुआ सीधा खिड़की से अंदर पोहोच गया !


Story Will Be Continue In Chapter 3

RELATED POST
Monday - 1 January, 2018
520 VIEWS
Ek Deewaani - Chapter 1

प्यार एक छोटा सा शब्द ! चाहे तो किसी की जिंदगी आबाद कर दे और चाहे तो बरबाद कर दे ! इस दुनिया मैं कोई भी इस

Monday - 1 January, 2018
69 VIEWS
Ek Deewaani - Chapter 2

घर पोहोच कर मैं थका हारा बिस्तर पर सोने के लिए लेट गया ! आज मुझे जैक दिखाई नहीं दे रहा था शायद वो कही घूमने

Monday - 1 January, 2018
38 VIEWS
Ek Deewaani - Chapter 3

जैसे ही मैं खिड़की से नेहा के कमरे में पोहोचा मेरी आंखे फटी की फ़टी रेह गयी वो कमरा था या फिर महल ! मेने ऐसा

Get Amazing article in your inbox

Subscribe to our Newsletter and never miss a article

POPULAR POST
10 Best Inspirational and Motivational Movies

Here is a list of top 10 best inspirational and motivational movies. Some of the movies are based on real life incidents, while others are great work

10 Countries With The Highest Murder Rates

The countries with the highest murder rates may surprise you. It’s a known fact that the modern world is everything but a safe place. But it’s

Top 5 Most Spectacular Space Photos From NASA

NASA have incredible records of space achievement than any other space agency in the world. From successful manned mission to Moon in 1969 to on

10 High Tech and Advanced Wrist Watches

Most of the people think why to wear a watch when they already have smartphones always in their hand. Well, it's a same question like why to have a

Nasa discovered Hottest planet in universe

Researchers have discovered the hottest planet ever known, with a surface temperature of 4,327º C – almost as hot as our Sun’s surface. While

10 Most Unique Smartphones in The World

Smartphones have become our biggest friends in a day to day life. We probably spend more time with our smartphone than any other device daily. But

Ek Deewaani - Chapter 1

प्यार एक छोटा सा शब्द ! चाहे तो किसी की जिंदगी आबाद कर दे

Top 10 Best Science Fiction movies

A long time ago, in a land far away... there were no space movies. Luckily, we have lots and the Guardian and Observer's critics have picked the 10

10 Strongest Currencies in the World

Which is the strongest currency in the world? As our list of 10 strongest currencies in the world unfolds, you will come to know that the United

10 death-defying stunts done by Tom Cruise

Onn the surface, Tom Cruise has a reputation for being a soft celeb. Despite an increasing collection of leading roles in big budget action flicks,

10 Best Animation Movies For Your Kids

As a parent, only you can help your kid understand the concept of morality. But, kids typically don’t like lectures!. So, how do you teach them

Top 10 Foods For Increasing Height

Height has always been a matter of concern for all of us. People of short height often suffer from low confidence and inferiority complex when they

10 Smallest Birds In The World

Mother Nature has the power to mesmerize us every now and then with new findings and unique organisms be it big or small or weak or strong. Usually

10 Fastest Trains In The World 2018

Of course, trains can’t fly over oceans like airplanes. But that doesn’t mean trains can’t run as fast as planes. Fortunately, some trains in

Top 10 Best Tamil Horror Movies

Following are the list of "Top 10 Best Tamil Horror Movies" Which is famous in Tollywood and Bollywood.